breaking news दुनिया

‘द सेल्फी एप’ और ‘एक्सोप्लेनेट इक्स्कर्शन वर्चुअल रीएल्टी एप’ नासा ने लॉन्च किया दो एप

‘द सेल्फी एप’ और ‘एक्सोप्लेनेट इक्स्कर्शन वर्चुअल रीएल्टी एप’ को नासा के स्पिट्जर स्पेस टेलीस्कोप की 15वीं सालगिरह के मौके पर लॉन्च किया गया है। ब्रह्मांड के अध्ययन के लिए 25 अगस्त 2003 को स्पिट्जर टेलीस्कोप लॉन्च किया गया था। इसे हबल टेलीस्कोप का छोटा भाई माना जाता है।

नासा ने एक बयान के मुताबिक, इन दो नवीन एप में स्पिट्जर स्पेस टेलीस्कोप की खोजों और उसके द्वारा ली गई शानदार तस्वीरों को केंद्र में रखा गया है। सेल्फी एप के जरिये आप स्पेससूट में अपनी सेल्फी ब्रह्मांड के शानदार स्थानों में ले सकेंगे। जैसे कि ओरियन नेबुला या फिर मिल्की वे के केंद्र में।

वहीं, यह एप विज्ञान की इन चमत्कारिक तस्वीरों के बारे में जानकारी भी उपलब्ध करवाएगा। अभी इस एप में स्पिट्जर से ली गईं 30 आकर्षक तस्वीरें हैं। भविष्य में इन्हें अपडेट किया जाएगा और तस्वीरों की संख्या बढ़ाई जाएंगी। इसके अलावा एक्सोप्लेनेट इक्स्कर्शन वर्चुअल रीएल्टी एप के जरिये यूजर्स ट्रैपिस्ट-1 सौरमंडल देख सकते हैं।

हमारे सौरमंडल के अलावा एक अन्य सौरमंडल ऐसा है, जिसमें धरती के आकार के सूर्य के चारों और सात ग्रह चक्कर लगा रहे हैं। ट्रैपिस्ट-1 सूर्य से 39.5 प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है। नासा के मुताबिक, ट्रैपिस्ट-1 सिस्टम काफी दूर है लिहाजा उसे टेलीस्कोप से देखना थोड़ा मुश्किल होता है, लेकिन वीआर फीचर की मदद से आप ग्रहों को आसानी से समझ सकते हैं।

सेल्फी लेने के लिए आपको बस आपको अपना फोटो खींचनी होगी। इसके बाद बैकग्राउंड का चयन कीजिए और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दीजिए। दोनों एप आइओएस और एंड्रायड डिवाइस दोनों पर मौजूद हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *